डोमेन नाम क्या है?

जब एक नया ब्लॉगर अपने ब्लॉगिंग कैरियर को शुरू करने के लिए ब्लॉगिंग दुनिया में प्रवेश करता है, तो उसे ब्लॉगिंग की मूल आवश्यकताओं के बारे में पता होना चाहिए। डोमेन नाम ब्लॉगिंग के लिए पहली आवश्यकता है। इस आर्टिकल में, हम आपके साथ शेयर कर रहे हैं कि डोमेन नाम क्या है, डोमेन नाम कैसे काम करता है, और विभिन्न प्रकार के डोमेन नाम क्या होता है, डोमेन नाम सिस्टम क्या है, आदि।

Table Of Contents

डोमेन नाम क्या है? (What is Domain Name in Hindi)

डोमेन नाम एक वेबसाइट का नाम है जो वेबसाइट को पहचानने के लिए एक डोमेन एक्सटेंशन के साथ प्रयोग किया जाता है। इस डोमेन नाम का उपयोग IP address के स्थान पर किया जाता है।

हम सभी प्रतिदिन इंटरनेट का उपयोग करते हैं। आजकल इंटरनेट हमारा एक हिस्सा बन गया है। हमारा बहुत सारा काम इंटरनेट पर होता है।

  • वीडियो देखकर, संगीत सुनकर अपना मनोरंजन करना
  • विभिन्न विषयों पर जानकारी प्राप्त करना
  • नौकरी की तलाश करना
  • ऑनलाइन खरीदारी करना
  • ऑनलाइन पढ़ना
  • बैंकिंग का काम और भी बहुत कुछ

इंटरनेट पर हमें ये सभी चीजें एक जगह पर नहीं मिलती हैं। हम इसे विभिन्न स्रोतों से प्राप्त करते हैं जिन्हें वेबसाइट कहा जाता है। खरीदारी के लिए, हम Amazon, Flipkart, Walmart पर जाते हैं। जानकारी एकत्र करने के लिए, हम Wikipedia पर जाते हैं।

ये सभी वेबसाइट इंटरनेट पर अलग-अलग web address पर स्थित हैं, हम इसे Internet Protocol Address (IP Address) कहते हैं। अलग-अलग वेबसाइटों के लिए इंटरनेट पर अलग-अलग IP address दिए गए हैं। ये IP address एक number series के रूप में हैं, कुछ इस तरह की: 164.205.2.45

IP Address को किसी व्यक्ति के लिए याद रखना बहुत मुश्किल है। इसलिए, प्रत्येक वेबसाइट तक अच्छेसे पहुंचने लिए, एक नाम का उपयोग किया गया है, जो विभिन्न extensions के साथ जुड़ा हुआ है, इसे डोमेन नाम कहा जाता है।

डोमेन नाम कैसे काम करता है?

बेहतर तरीके से समझने के लिए कि डोमेन नाम कैसे काम करता है, आइए एक उदाहरण लेते हैं:

अगर आप कुछ खरीदना चाहते हैं, और आपको Amazon की वेबसाइट पर जाना होगा। इसलिए, आपको आपके browser के URL bar में पूरा IP Address टाइप करना होगा। IP Address की नंबर सीरीज को टाइप करना थोड़ा मुश्किल है। आप IP address के numbers भी याद नहीं रख पाएंगे। यदि आप IP Address के स्थान पर “amazon.com” type हैं, तो आप आसानी से Amazon की वेबसाइट पर पहुंच सकते हैं।

इंटरनेट पर 1.7 बिलियन से अधिक वेबसाइटें हैं, और आप शायद उनमें से कुछ वेबसाइट का उपयोग विभिन्न उत्पादों, सूचनाओं या विभिन्न सेवाओं को प्राप्त करने के लिए कर रहे हैं। सभी वेबसाइटों का IP address भी अलग है। उन वेबसाइटों के IP Address को याद रखना हमारे लिए बहुत मुश्किल है।

डोमेन नाम की मदद से आप search engine के URL बार में सिर्फ वही नाम type कर के आसानी से किसी वेबसाइट को visit कर सकते हैं।

For example,

जब हम Amazon की वेबसाइट पर जाते हैं, तो हमें एक URL मिलता है: https://www.amazon.com/. यहाँ “amazon.com” Amazon का डोमेन नाम “https://” वेब प्रोटोकॉल साइन है। Amazon वेबसाइट पर जाने के लिए हमें बस URL bar में “https://www.amazon.com/” या केवल “amazon.com” या search engine box में “amazon” टाइप करना होगा। यह आपको Amazon की shopping page पर पहुंचा देगा।

डोमेन नाम सिस्टम क्या है?

डोमेन नाम सिस्टम एक फोन की एड्रेस बुक की तरह है जो IP Addresses को किसी विशेष नाम में save कर के रखता है। सभी डोमेन डोमेन नाम सिस्टम द्वारा नियंत्रित होते हैं।

DNS को बेहतर तरीके से समझने के लिए आइए एक उदाहरण लेते हैं: आपके 50 दोस्त हैं और प्रत्येक दोस्त का एक मोबाइल नंबर है। आप सब का मोबाइल नंबर याद नहीं रख सकते। आपने प्रत्येक नंबर की पहचान के लिए उनके नाम के साथ उनके mobile number आपने save किया है। जब आपको उन्हें call करने की आवश्यकता होती है, तो आप बस अपने mobile directory में जाते हैं और निर्दिष्ट व्यक्ति का नाम खोजते हैं, उसे call करते हैं।

डोमेन नाम सिस्टम मोबाइल डायरेक्टरी की तरह ही है। यह IP Address को किसी विशेष नाम के साथ save करके रखता है। इसे हम डोमेन नाम कहते हैं। जब कोई व्यक्ति इंटरनेट पर किसी विशेष वेबसाइट को उसकी डोमेन नाम से खोजता है, तो वह IP Address में परिवर्तित हो जाता है, और उपयोगकर्ता को उस वेबसाइट पर ले जाता है।

अब सवाल यह है कि DNS को manage कौन करता है?

The Internet Corporation for Assigned Names and Numbers (ICANN) डोमेन नेम सिस्टम को manage करता है। ICANN एक non-profit organization है जो डोमेन के लिए नियमों को बनाता है और इसे नियंत्रित करता है। सभी डोमेन रजिस्ट्रार ICANN से अनुमति लेते हैं और उपयोगकर्ताओं को डोमेन बेचते हैं, इसके साथ साथ सभी डोमेन रिकॉर्डों को नियंत्रित भी करते हैं।

डोमेन एक्सटेंशन क्या है?

डोमेन एक्सटेंशन (Domain extension) डोमेन के स्तर के होते हैं, जो डोमेन नाम के अंतिम भाग में स्थित होते हैं। उदाहरण के लिए, हमारी वेबसाइट aapbhijaano.com है, जहां .com डोमेन एक्सटेंशन है। डोमेन एक्सटेंशन डोमेन के स्तर को तय करता है, चाहे ये उच्च-स्तरीय डोमेन या निचले-स्तर के डोमेन हों।

डोमेन कितने प्रकार के होते हैं?

डोमेन नाम को उनके levels के अनुसार विभिन्न प्रकारों में विभाजित किया गया है। डोमेन के अलग अलग levels के साथ अलग अलग डोमेन एक्सटेंशन का उपयोग किया जाता है। डोमेन एक्सटेंशन तय करते हैं कि डोमेन टॉप-लेवल डोमेन होते हैं या लोअर-लेवल डोमेन होते हैं।

  • Top-Level Domain (TLD)
  • Second Level Domain (SLD)
  • Lower Level Domain (LLD)

TLD या टॉप लेवल डोमेन क्या है?

TLD या टॉप लेवल डोमेन इंटरनेट के सबसे उच्चतम स्तर के डोमेन एक्सटेंशन में से एक है। ये उच्च-मूल्य वाले डोमेन हैं। यह इंटनेट पर सबसे लोकप्रिय डोमेन एक्सटेंशन हैं। इनके पास इंटरनेट पर जल्द रैंक करने की क्षमता है।

निचे दिए गए डोमेन सभी इस प्रकार के डोमेन में जाते हैं:

  • .com commercial सम्बंधित
  • .gov Government सम्बंधित
  • .org organization सम्बंधित
  • .edu educational सम्बंधित
  • .net network सम्बंधित
  • .mil military सम्बंधित

फिर से top-level domains को अलग अलग भागों में विभाजित किया गया है।

  • Generic top-level domains (gTLD)
  • Country-code top-level domains (ccTLD)
  • Internationalized country code top-level domains (IDN ccTLD)
  • Sponsored top-level domains (sTLD)

Generic top-level domain (gTLD) क्या है?

इस प्रकार के डोमेन special categories के लिए उपयोग किए जाते हैं। generic top-level domain में .com, .info, net, .org, .mil जैसे एक्सटेंशन आते हैं।

Country-code top-level domain (ccTLD) क्या है?

इस प्रकार के डोमेन किसी देश या किसी विशिष्ट क्षेत्र जैसे भौगोलिक स्थानों के लिए उपयोग या reserve किए जाते हैं। उदाहरण के लिए:

  • भारत में आधारित डोमेन के लिए .in
  • यूनाइटेड किंगडम में आधारित डोमेन के लिए .uk

Internationalized country code top-level domains (IDN ccTLD) क्या है?

ये डोमेन writing system के हिसाब से अलग अलग देशों, या स्वतंत्र भौगोलिक क्षेत्रों को सौंपा गया है। जैसे Russia, China, Taiwan जैसे देशों ने इस प्रकार के डोमेन का उपयोग करते हैं।

Sponsored top-level domains (sTLD) क्या है?

इस प्रकार के डोमेन एक विशेष समुदाय (community) के द्वारा sponsor के रूप इस्तेमाल किया जाता है। जैसे की private organizations, governments, educational institutions, military आदि द्वारा उपयोग किया जाता है।

  • .gov government द्वारा उपयोग किया जाता है
  • .edu का उपयोग educational institutions द्वारा किया जाता है
  • .mil का उपयोग military द्वारा किया जाता है
  • .aero का उपयोग aerospace community द्वारा किया जाता है
  • .jobs नौकरी प्रदान करने वाली कंपनी द्वारा उपयोग किया जाता है

SLD या सेकंड लेवल डोमेन क्या है?

शीर्ष-स्तरीय डोमेन के left side में स्थित डोमेन को सेकंड लेवल डोमेन (second level domain या SLD) कहा जाता है। उदाहरण के लिए, knoansw.com में, .com शीर्ष-स्तरीय डोमेन (TLD) है और knoansw एक Second Level Domain है।

LLD या लोअर लेवल डोमेन क्या है?

SLD डोमेन नाम से पहले जो part स्थित है उसे लोअर लेवल डोमेन (Lower Level Domain या LLD) कहते हैं। उदाहरण के लिए, www.knoansw.com में, “.com” top level domain है, knoansw SLD डोमेन है, “www” तीसरे स्तर का डोमेन या lower level domain कहते हैं।

डोमेन नाम चुनने की आवश्यकता क्यों है?

डोमेन का उपयोग करने के लिए विभिन्न लाभ हैं।

  • यह internet resources की पहचान करता है
  • वेबसाइट या resources को आसानी से याद रखने में मदद करता है
  • यह इंटरनेट resources के ownership की पहचान करने में मदद करता है
  • वेबसाइट या resources के owner को उनके संगठन, व्यवसाय के लिए संबंधित नाम चुनकर एक विशिष्ट पहचान स्थापित करने में मदद करता है।

डोमेन नाम कहाँ से खरीदें?

The Internet Corporation for Assigned Names and Numbers (ICANN) एक non-profit organization है जो अमेरिका में स्थित है। यह सभी डोमेन और डोमेन नेम सिस्टम को manage करता है।

यह डोमेन रजिस्ट्रारों को डोमेन बेचने की अनुमति देता है, records, renewals, transfers को manage करने की अनुमति भी देता है।

इंटनेर पर बहुत डोमेन नाम रजिस्ट्रार कंपनियां हैं जहां से आप अपना डोमेन खरीद सकते हैं।

डोमेन नाम पर FAQ

डोमेन नाम खरीदने के लिए सबसे अच्छी जगह कौन सी हैं?

कई डोमेन रजिस्ट्रार हैं जो आप अपने ब्लॉग के लिए एक डोमेन नाम खरीद सकते हैं। लेकिन GoDaddy, Namecheap, Domain.com एक सही डोमेन नाम खरीदने के लिए सबसे अच्छा डोमेन रजिस्ट्रार हैं।

फ्री डोमेन कैसे प्राप्त करें?

आम तौर पर, डोमेन नाम मुफ्त नहीं हैं। यदि आप एक मुफ्त डोमेन चाहते हैं, तो बाजार में कुछ होस्टिंग प्रदाता उपलब्ध हैं, जहां आप होस्टिंग खरीदने के समय एक मुफ्त डोमेन प्राप्त कर सकते हैं। Bluehost और Hostinger दोनों अपनी hosting plan के साथ एक वर्ष के लिए मुफ्त डोमेन प्रदान कर रहे हैं।

क्या ब्लॉगिंग के लिए एक डोमेन की आवश्यकता है?

हाँ, ब्लॉगिंग के लिए एक डोमेन नाम आवश्यक है। आपको अपने ब्लॉग की पहचान के लिए एक डोमेन नाम की आवश्यकता है।

डोमेन नाम की cost कितनी है?

डोमेन नाम की cost डोमेन एक्सटेंशन पर निर्भर करती है। टॉप-लेवल डोमेन ₹600 से ₹800 की लागत पर उपलब्ध हैं। Internet में कुछ hosting provider उपलब्ध हैं, जहाँ आप उनकी होस्टिंग खरीदेंगे तो आपको एक डोमेन नाम एक साल के लिए मुफ्त में मिलेगा। उचित मूल्य पर अपने ब्लॉग के लिए सबसे अच्छा डोमेन नाम पाने के लिए Namecheap पर जाएं।

डोमेन नाम रजिस्ट्रार क्या है?

डोमेन रजिस्ट्रार वो कंपनियाँ हैं जो डोमेन नाम बेचती हैं। यह सभी ICANN से अनुमति ले कर डोमेन नाम बेचते हैं।। सबसे अच्छा डोमेन रजिस्ट्रार GoDaddy और Namecheap हैं।

क्या डोमेन नाम बदला जा सकता है?

नहीं, आप नहीं कर सकते। एक बार जब आप अपना डोमेन नाम पंजीकृत कर लेते हैं, तो आप अपना डोमेन नाम नहीं बदल सकते।

डोमेन नाम कैसे काम करता है?

जब कोई उपयोगकर्ता किसी विशेष वेबसाइट की खोज करता है, तो डोमेन नाम की मदद से वह वेबसाइट तक पहुंच सकता है। उपयोगकर्ता को search box या URL bar पर डोमेन नाम टाइप करने की आवश्यकता होती है, फिर डोमेन नाम एक numeric IP Address में परिवर्तित होता है, और यह वेबसाइट ढूंढता है और उपयोगकर्ता को वेबसाइट पर पहुंचा देता है।

कितने डोमेन नाम पंजीकृत किए गए हैं?

370 मिलियन से अधिक डोमेन नाम पंजीकृत हो चुके हैं।

डोमेन नाम क्यों महत्वपूर्ण है?

डोमेन नाम विभिन्न कारणों से महत्वपूर्ण है: वेबसाइट या इंटरनेट संसाधनों की पहचान करने के लिए उपयोग किया जाता है, वेबसाइट को याद रखने में मदद करता है।

डोमेन नेम सिस्टम कैसे काम करता है?

डोमेन नेम सिस्टम फोन की एड्रेस बुक की तरह है जो किसी खास नाम के सभी न्यूमेरिक आईपी एड्रेस को save करता है।

SEO के लिए कौन सा डोमेन नाम सबसे अच्छा है?

शीर्ष स्तर डोमेन जैसे .com, .net, .org, .in, .co जैसे डोमेन नाम SEO के लिए सबसे अच्छे हैं।

क्या डोमेन नाम और वेबसाइट का नाम अलग है?

यदि आप डोमेन और वेबसाइट के बीच कोई अंतर खोज रहे हैं, तो ये दोनों अलग है। लेकिन जब आप एक डोमेन नाम और एक वेबसाइट के नाम के बीच अंतर खोजते हैं, तो दोनों समान हैं। आपको अपनी वेबसाइट के नाम के अनुसार अपना डोमेन नाम चुनना होगा।

मुझे अपनी वेबसाइट के लिए किस प्रकार का डोमेन नाम चुनना चाहिए?

आपको अपने डोमेन को अपने व्यवसाय, संगठन या रुचि के क्षेत्र के अनुसार एक शीर्ष-स्तरीय डोमेन एक्सटेंशन चुनना होगा। यदि आप अपनी वेबसाइट का व्यावसायिक उपयोग करना चाहते हैं तो आपको .com को चुनना होगा। उदाहरण के लिए, yourbusinessname.com।

ब्लॉगिंग के लिए कौन सा डोमेन नाम सबसे अच्छा है?

यह आप पर निर्भर करता है। आप अपने डोमेन के लिए किस प्रकार का नाम चाहते हैं, लेकिन यह एक शीर्ष-स्तरीय डोमेन होना चाहिए। आप अपने ब्लॉग का नाम “yourblogname.com” ले सकते हैं। यदि आप भारत में रह रहे हैं, और आप अपना blog केवल भारत में share करना चाहते हैं, तो आप अपने domain extension को “.in” के रूप में ले सकते हैं। .in Country-code top-level डोमेन है।

क्या डोमेन नाम expire होती है?

हाँ! जब आप किसी भी डोमेन रजिस्ट्रार से डोमेन नाम खरीदते हैं तो आपको यह 1 साल, 2 साल या 3 साल की सदस्यता के लिए मिलता है। सदस्यता अवधि पूरी होने से पहले आपको अपने डोमेन को renew करना चाहिए। अन्यथा, यह expire हो जाएगा।

आशा करते हैं की हमारा यह आर्टिकल “डोमेन नाम क्या है” के माध्यम से आपको डोमेन नाम के बारे में सारे मिली है। अगर आपको डोमेन नाम के बारे में ज्यादा जानकारी चाहिए तो निचे कमेंट बॉक्स में बताइये।

डोमेन नाम के बारे में ज्यादा जानिए:

Author Image of Aap Bhi Jaano

ABOUT ME

I am Manoranjan, a learner like you. I just want to learn about the internet resources and share with you about those resources via blogging in Hindi.

Leave a Comment

Follow Us

Subscribe कीजिये